C Programming Language क्या होती है


दोस्तो यदि आप लोग पढ़ाई कर रहे है या फिर कम्प्युटर चलाते है तो आप लोगो ने C Programming Language के बारे मे ज़रूर सुना होगा हैलो दोस्तो मै टेक्निकल माजिद और आप सभी लोगो आज एक न्यू पोस्ट मे welcome करता हु |



C Programming Language क्या होती है Inctroducation of C Programming Language




C Programming Language क्या है ? 


दोस्तो किसी भी programming language सीखने से पहले C programming language को सीखने के लिए क्यो क्या जाता है ? क्या आप कभी सोचा है ?
चलये दोस्तो मै बताता आखिर क्यो पहले C programming language सीखने ज़रूरी है ,

दोस्तो जब हम कोई कॉलेज मे पढ़ाई करते है या फिर कोई institute मे कोई programming language सीखेने जाते है तो वो सबसे से पहले C programming language सीखने की सलाह देते है 

वो c programming language सीखने की सलाह इस लिए देते है क्योकि C programming language बाकी language
की अपेछा Simple language है 


C programming language को एक procedural language माना जाता है , C programming language एक high level programming language है

C programming language के Code करने के लिए Syntax / features बनाए गये | C programming language का syntax ही ज़्यादातर programming language मे यूस किया जाता है जैसे JAVA , PHP, java script etc 

इस जब आप कही पर कोई programming language सीखने जाते है तो पहले C programming langauge की  सलाह दी जाती है 

C programming language मे बहुत सारी header file include होती है जैसे <stdio.h> इस मे बहुत सारी file include होती है जैसे <clrscr> और <getch> etc

C Programming Language को किसने बनाया ?


दोस्तो C Programming language को सन 1969 मे developed किया गया इस language को मुख रूप से system programming के लिए ही developed किया गया था |
 C programming language को बनाने वाले Dennis Ritchie जी ने बनाया है 


Feature of C programming language ?

1. C एक high programming language है
2.C एक basic programming language जिसे आसानी से सीखा जा सकता है 
3.ये procedural Language होती है
4.ये बहुत की fast language होती है 


C programming language के program कैसे लिखे जाते है ?




C programming मे stdio.h एक header file है जिसमे बहुत सारे function include है और conio.h भी एक header file होती है 
इस मे भी बहुत सारे function include होते है 

clrscr(); इस के मतलब पुराने output को मिटाना 

printf(); इस मतलब इस के अंदर हम जो कुछ भी लिखे गे वो OUTPUT के रूप मे दिखे गा

getch(); इस का मतलब ये आप के output को कुछ टाइम तक Hold करके रखती है

final word

दोस्तो मै आशा करता हु की आप लोगो को ये पोस्ट पसंद अच्छी लगी होगी , यदि दोस्तो आप लोगो के पास C programming language के related कोई question है तो आप ज़रूरी कमेंट करे , और अपने दोस्तो के साथ ये पोस्ट share करे THANK YOU !