C Programming Language मे Variables क्या है पूरी जानकारी hindi मे




C Programming Language मे Variables क्या है पूरी जानकारी hindi मे




ऐसी रशिया जिनका मान प्र्तेक प्रोग्राम के exectution के दौरान समय समय पर निर्देशानुसार परिवर्तन होता रहेता है Variables कहलाता है 
Program  द्वारा Variables का मान अर्थ पूर्ण या Meaning Full रखना चाहिए जैसे total , avarage , table इत्यादि 
variables का मान memory मे Location का नाम होता है ये location integer, real, char Constant को रख सकता है variables मे निम्न प्रकार के डाटा(data) हो सकता है जैसे


  • Integar data

  • Real data या floating Point data

  • Charter data


Integer data type को स्टोर करने के लिए integar variables तथा Real type data को Store करने के लिए Float Variables तथा Charter type data के लिए Char type variables बनाते है 

Variables बनाने के नियम (variables rule)


Programming Language मे Variables को लिखने के लिए निम्न प्रकार के नियम बनाए गए है 

1. variables alphabit (Uper case , Lower case) Digits और केवल Undarscore (-) का मिश्रल होता है या समूह होना चाहिए 

2. Variables का पहेला अझर या तो करेक्टर या underscore (-) से सुरू होना चाहिए 

जैसे :-   -filero , num 

3. Camma और blanck space variables का प्रयोग नही होता है 

4. Keyword को variables के रूप मे प्रयोग नही कर सकते है अर्थात जो 32 keyword होते है उस को हम variables के रूप मे प्रयोग नही कर सकते 

5. Variables अर्थ पूर्ण छोटा , आसानी से Type होने वाला और आसानी से पड़े जाने वाला होना चाहिए अर्थात हम जो भी प्रोग्राम बनाते समय varibles लिखे छोटा , और यदि कोई भी पड़े तो उस समझ मे आ जाना चाहिए |

6. Variables case सेन्स्टिव होना चाहिए |



Declarition Of variables :- 


syntax :-    →     datatype Variables-name ;


varibles num2,.........................., variables num n ;


Example :- 


     int x,y,z ;
float f ;
char ch ;
long double a,b ;


Program मे प्रयोग किए जाने वाले variables का नाम तथा data Type के साथ पहले घोषित करना होता है जो की Compiler को बताता है की program मे variables इस प्रकार के datatype के साथ प्रयोग किया जाए गा | Program execution के दौरान इन variable को एक निश्चित memory प्रदान करता है जो की data types पर निर्भर होती है इस को घोषित करने का समय सूत्र इस प्रकार है 


Initilization Of Variables :- 


Synatx :-      →        datatype  variables-name = value ; 


Example :- 

                       int Count = 0;
float f = 10.6 ;
                Char ch = 't' ;

Variables के प्रकार (Types of variables )


Storege class c भाषा मे Compiler को ये बताता है की variables को कहा स्टोर (store) करना चाहिए variables को घोषित करते समय निम्न Storege क्लास का प्रयोग किया जाता है अर्थात varibles निम्नलिखित प्रकार के होते है 


  1.  Local varibles / Auto Variables
  2. Globel Varibles 
  3. Static variables
  4. Ragister variables 
  5. External Variables 


1. Local Variables या Auto Variables :- 


फंकशन (Function) के अन्दर घोषित variables autometic होता है इन variables को Local variables भी कहा जाता है क्योकि की ये function के अन्दर होता है और फंकशन के बाहर उन का कोई अर्थ नही होता है और  इस variables को Auto keyword से प्रदर्शित करते है इन की default value garbage होती है  इस का समान सूत्र इस प्रकार है 

Syntax :-      →  auto  datatype variables-name ;


Example :-  

→      auto int n ;

 →      auto float p,q ;

2. Global Variables :- 


ऐसा variables जिनका का फंकशन (function) के बाहर Declare अर्थात घोषित किया जाता है Global variables कहलाता है Global variables को C  Program मे किसी भी जगह Acces किया जा सकता है | global variables को c भाषा का कोई भी function Access कर सकता है इस की default value zero होती है 

3. Static variables :- 


इस storage classic का प्रयोग ऐस Variables बनाने के लिए किया जाता है जिन्हे एक बार घोषित किया है परन्तु प्रयोग करने के लिए इसका life Time दुवारा प्रोग्राम होता है | इस प्रकार के variables विभ्न्न फंकशन (finction) के दुवारा call होने पर अपनी पुरानी value को return कर के रखता है इस static keyword
से प्रदर्शित किया जाता है इस की default value zero होती है 



4. Register variables :-

storage classic Variables को Memory के बजाय Register मे स्टोर (store) करता है इसमे स्टोर किया गया नाम तेज़ गति से प्राप्त प्रयोग मे लाया जा सकता है
इसकी default value Grabge होती है इस को Register keyword से घोषित किया जाता है

Synatx : -        register  datatype variable-name ;



Example :-

register int x ;
register float p ;

5. Extarnal variables :-


ऐसा variables एक ज्यादा C Program मे acces करना चाहे तो Variables को Extarnal Keyword के साथ घोषित करना होता है ऐसे variables को
एक fill मे घोषित करके दुसर प्रयोग करना होता है इसे इस प्रकार घोषित करते है

synatx :-  Extern  datatype variable-name ;

Example :-

extern int x ;
extern float y ;



Final word 


दोस्तो मै आशा करता हु की आप लोगो को ये Post पसंद आई होगी यदि दोस्तो आप के पास variables के releted कोई Question है तो आप Comment कर के पूछ सकते है