वीडियो कान्फ्रेन्सिंग ( Video Conferencing ) व उसका उपयोग

दोस्तो वीडियो कान्फ्रेन्सिंग क्या है तथा इन का इस्तेमाल कब और कैसे किया गया है हैलो दोस्तो मै टेक्निकल माजिद और आप सभी का इस न्यू पोस्ट मे welcome करता हु यदि वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के बारे मे पूरी जानकारी लेना चाहते हो तो इस पोस्ट को अंत तक पढे


Video Conferencing



वीडियो कान्फ्रेन्सिंग क्या है ?

वीडियो कान्फ्रेन्सिंग ( Video Conferencing ) , आधुनिक संचार तकनीक है , जिसके माध्यम से दो या दो से अधिक स्थानों से एक साथ ऑडियो - वीडियो माध्यम से कई व्यक्ति जुड़ सकते हैं । इसे वीडियो टेली कान्फ्रेन्स ( Video Tele Conference ) भी कहा जाता है । 

इसका प्रयोग विशेषतः किसी बैठक अथवा सम्मेलन के लिए तब किया जाता है , जब अनेक व्यक्ति अलग - अलग स्थानों पर बैठे हों ।

 वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से डॉक्यूमेन्ट्स और कम्प्यूटर पर चल रहीं सूचनाओं का आदान - प्रदान भी किया जा सकता है । 

वीडियो कान्फ्रेन्सिंग में वीडियो कैमरा या वेब कैम , कम्प्यूटर मॉनीटर , टेलीविजन या प्रोजेक्टर , माइक्रोफोन , स्पीकर और इन्टरनेट की आवश्यकता होती है ।

इस कान्फ्रेन्सिंग में प्रत्येक भागीदार के कम्प्यूटर के साथ माइक्रोफोन , स्पीकर्स और एक वीडियो कैमरा सम्बद्ध होता है । 


जैसे ही दो अथवा से अधिक व्यक्ति आपस में कम्यूनिकेट करते हैं , तो माइक्रोफोन में बोली गई उनकी बात नेटवर्क के माध्यम से कान्फ्रेन्स में सम्मिलितअन्य व्यक्तियों तक उनके कम्प्यूटर से सम्बद्ध स्पीकर्स के माध्यम से सुनाई देती है 

और उसकी जीवन्त छवि भी नेटवर्क के माध्यम से कान्फ्रेन्स में सम्मिलित अन्य व्यक्तियों के कम्प्यूटर मॉनीटर पर प्रदर्शित होती है । जिन देशों में टेली मेडिसिन और टेलीनर्सिंग को मान्यता प्राप्त है , वहां लोग आपातकाल में नर्स और डॉक्टर्स से वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सम्पर्क कर सकते हैं । 


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का महत्व ? 


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का महत्व ?


यह सेवा आजकज भारत संचार निगम लिमिटेड ने अपनी 3 - G दूरभाष सेवा में देनी शुरू की है । आजकल इस आधुनिक तकनीक का शिक्षा और 

विदेश में बैठे व्यक्तियों की न्यायालयों में गवाही और कम्पनीज़ द्वारा अपने कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के लिए भी काफी प्रयोग होने लगा है । 

विश्व के अनेक विश्वविद्यालयों ने आधुनिक शिक्षा प्रणाली की आवश्यकता को देखते हुए वीडियो कान्फ्रेन्सिंग को अपनाया है । 

भारत सहित अनेक देशों में सरकारी बैठकों और कार्यनिर्देश के लिए अब वीडियो कान्फ्रेन्सिंग का प्रयोग हो रहा है ।

इससे समय और धन दोनों की ही बचत होती है । वीडियो कान्फ्रेन्सिंग तकनीक इतनी लोकप्रिय हो चली है , कि वैज्ञानिक इसे मोबाइल फोन पर भी उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत हैं ।


विभिन्न टीवी न्यूज़ चैनल्स आजकल स्टूडियो में बैठे बैठे ही किसी अन्य स्थान पर स्थित अपने संवाददाता से वार्तालाप वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से ही कर पाते हैं । 


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का उपयोग ?

वीडियो कान्फ्रेन्सिंग ( Video Conferencing ) का प्रयोग करके कम्पनीज़ विभिन्न शहरों , राज्यों और देशों में स्थित अपनी शाखाओं से एक साथ मीटिंग कर सकते हैं । \

इससे यात्रा और होटल के व्यय की बचत तो होती ही है , साथ ही समय भी बचता है । इस प्रकार की मीटिंग एक Shon Notice पर भी बुलाई जा सकती है । इसके साथ - साथ कर्मचारी अपना कार्य ऑफिस के साथ - साथ अपने घर भी कर सकता है । 

इस प्रकार की मीटिंग के लिए बहुत बड़े कमरे की आवश्यकता भी नहीं होती । वीडियो कान्फ्रेन्सिंग ( Video Conferencing ) में आवाज और तस्वीरों के सहज ट्रान्समिशन में बाधा आ सकती है , ऐसा कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर , हार्डवेयर अथवा नेटवर्क के बाधित होने के कारण हो सकता है । 

यदि सम्बन्धित कर्मचारी को वीडियो कान्फ्रेन्सिंग कर समझ नहीं है , तो भी इसमें समस्या उत्पन्न हो सकती है । इस प्रकार की कान्फ्रेन्सिंग में व्यक्तिगत  इन्ट्रक्शन सम्भव नहीं है 


Final Word 


मै आशा करता हु की आप लोगो को वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के बारे मे पूरी जनकरी मिल गयी हो गी यदि कोई भी Question है तो आप comment कर सकते है