वायरलेस एप्लीकेशन प्रोटोकॉल - वैप ( WirelessApplication Protocol - WAP )

वायरलेस एप्लीकेशन प्रोटोकॉल - वैप ( WirelessApplication Protocol - WAP )


क्या आप  वायरलेस एप्लीकेशन प्रोटोकॉल (WAP) के बारे मे पूरी जानकारी details मे जानना चाहते है तथा  वायरलेस एप्लीकेशन प्रोटोकॉल - वैप कैसे कार्ये करता है हैलो दोस्तो मै टेक्निकल माजिद और आप सभी लोगो का अपनी website मे welcome करता हु यदि आप इस के बारे मे पूरी जनकरी लेना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक पढे 


वायरलेस एप्लीकेशन प्रोटोकॉल - WAP

WAP अथवा Wireless Application Protocol एक टेलीकम्यूनिकेशन तकनीक है । यह तकनीक सन् 1999 में अस्तित्व  में आ चुकी थी । टेलीकम्यूनिकेशन की बड़ी कम्पनीज़ ; जैसे — नोकिया , मोटरोला , एरिक्सन और अमेरिकी सॉफ्टवेयर कम्पनी PHONE | COM ; ने मिलकर समझौता कर WAP तकनीक को विकसित किया है 


इन सभी ने WAP तकनीक से सम्बन्धित नियम बनाए | और उसका स्वरूप तैयार किया । वर्तमान में WAP टैक्नालॉजी इन्टरनेट से मोबाइल फोन की लिन्किंग के लिए एक स्टैण्डर्ड विधि WAP तकनीक से इन्टनेट से सूचनाएं लेकर उसे मोबाइल टेलीफोन पर प्रस्तुत किया जाता है 


What is Mobile Application Protocol?


पहले मोबाइल फोन से इन्टरनेट में प्रवेश करने के लिए सामान्य मोबाइल फोन को किसी कम्प्यूटर से जोड़कर मोबाइल पीन से डायलिंग करनी पड़ती थी । परन्तु अब WAP तकनीक से मोबाइल फोन के द्वारा मोबाइल ऑपरेटर के वायरलेस नेटवर्क से ही इन्टरनेट से सम्पर्क स्थापित किया जा सकता है । 

इन्टरनेट में उपयोग किए जाने वाले HTML फॉरमेट के स्थान पर मोबाइल फोन में WML फॉरमेट का उपयोग किया जाता है जिससे मोबाइल फोन को नेटवर्क - आधारित एक स्मार्ट फोन में बदला जा सकता है , जिसका उपयोग इन्टरनेट से सम्बन्धित के लिए किया जा सकता है


मोबाइल डेटा - वेब आधारित इन्टरएक्टिव सूचना सेवा के लिए एवं अन्य विभिन्न सेवाओं ; जैसे — ई - मेल , कारपोरेट डेटा , समाचार , खेल और मनोरंजन , टेलीविजन फिल्म , पर्यटन , संस्कृति , मेडिकल , ई - कॉमर्स लेन - देन और बैंकिंग सेवा , टिकट सेवा , ऑन - लाइन शॉपिंग , मौसम सम्बन्धी सूचना , यलो पेजेज़ तथा ट्रेन विमान बस का समय इत्यादि के लिए WAP एक आदर्श तकनीक है 


How to work Application Protocol?


पहले WAP तकनीक पर काम करने वाले मोबाइल फोन सामान्य मोबाइल फोन की तुलना में कुछ महंगे थे , परन्तु अब इनकी कीमत घटकर लगभग सामान्य मोबाइल के बराबर ही आ गयी है । जैसे - जैसे WAP तकनीक पर काम करने वाले मोबाइल फोन की संख्या में वृद्धि होती जा रही है , वैसे - वैसे इनकी कीमत में भी कमी आती जा रही है 

हालांकि WAP तकनीक की कुछ सीमाएं हैं ; जैसे कि गति और बैण्ड - विड्थ । हमारे देश में सैल्यूलर टेलीफोन स्टैण्डर्ड अर्थात् GSM , डेटा को केवल 9.6 किलोबिट्स प्रति सेकेण्ड ( KBPS ) की दर पर प्रसारित कर सकता है ; जबकि वास्तविक डेटा प्रसारण की यति मात्र 7 किलोबिट्स प्रति सेकेण्ड है । अतः ऐसी गति के कारण WAP पर केवल टैक्स्ट और काफी कम ग्राफिक्स ही प्राप्त किया जा सकता है ।

इसके अलावा छोटे आकार के मोबाइल फोन में बड़ी डिस्प्ले स्क्रीन भी नहीं होती है । आज हमारे देश में अनेक सैल्यूलर फोन ऑपरेटर्स WAP तकनीक का प्रयोग कर रहे हैं । 

इनमें कई ऑपरेटर्स तो राह भटके ग्राहकों के लाभार्थ शहरी सड़कों के मानचित्र जैसी सुविधा को WAP पर उपलब्ध करा रहे हैं


final word 

दोस्तो मै आशा करता हु की आप  WirelessApplication Protocol - WAP के बारे मे पूरी जानकारी मिल गयी हो गी की यदि आप के पास WAP के बारे मे कोई question है तो आप कमेंट कर के पूछ सकते है