टेली कान्फ्रेन्सिंग ( TeleConferencing ) का कार्ये व उनका का उयोग

क्या आप जानते है की टेली कान्फ्रेन्सिंग ( TeleConferencing ) क्या होती है ? तथा इन का इस्तेमाल कहा कहा किया जाता है हैलो दोस्तो मै टेक्निकल माजिद और आप सभी का इस न्यू पोस्ट मे welcome करता हु यदि आप टेली कान्फ्रेन्सिंग ( Tele Conferencing ) के बारे मे पूरी जानकारी लेना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक पढे  


टेली कान्फ्रेन्सिंग ( TeleConferencing ) क्या है



टेली कान्फ्रेन्सिंग ( TeleConferencing ) क्या है



टेली कान्फ्रेन्सिंग ( Tele Conferencing ) का आशय तीन अथवा इससे अधिक व्यक्तियों द्वारा किसी इलैक्ट्रॉनिक माध्यम के द्वारा किए जाने वाले परस्पर संवाद से है । 

टेली का आशय दूर स्थान से है और कान्फ्रेन्सिंग का आशय संवाद , बातचीत अथवा सम्मेलन से है । इस प्रकार टेली कान्फ्रेन्सिंग का अर्थ है — दूरस्थ संवाद अथवा दूरस्थ सम्मेलन । टेली कान्फ्रेन्सिंग में दो से अधिक प्रतिभागी होते हैं । 

इन प्रतिभागियों का किसी एक स्थान पर होना आवश्यक नहीं है , वे विश्व के किसी भी कोने में स्थित हो सकते हैं , परन्तु वे किसी नेटवर्क से अवश्य जुड़े होने चाहिएं । 

भले ही ये नेटवर्क टेलीफोन लाइन्स का हो अथवा इन्टनेट का । सन् 1960 में अमेरिकन टेलीफोन एण्ड टेलीग्राफ ने अपनी पिक्चरफोन डिवाइस के माध्यम से सबसे पहले टेली कान्फ्रेन्सिंग की थी । 

मूलतः टेली कान्फ्रेन्सिंग डिवाइस तीन प्रकार की होती हैं — पहली वे जो केवल ऑडियो कान्फ्रेन्सिंग और शाब्दिक कम्यूनिकेशन की अनुमति प्रदान करती हैं , इनको टेलीफोन लाइन्स पर प्रयोग किया जाता है । 

दूसरी जो वीडियो कान्फ्रेन्सिंग की अनुमति भी प्रदान करती हैं और तीसरी वे जो कम्प्यूटर टर्मिनल्स के माध्यम से टैक्स्ट के रूप में कम्यूनिकेशन की अनुमति प्रदान करती हैं । 


टेली कॉन्फ्रेंसिंग किसका रूप है?


TeleConferencing


टेली कान्फ्रेन्सिंग के सबसे सरल रूप में कम - से - कम तीन व्यक्तियों का होना आवश्यक है और तीनों ही व्यक्ति परस्पर इस प्रकार जुड़े होते हैं कि एक व्यक्ति के वक्तव्य को शेष दोनों व्यक्ति सुन सकते हैं । ये सभी व्यक्ति अलग - अलग स्थानों पर होते हैं , परन्तु टेली कान्फ्रेन्सिंग करके वे ठीक उसी प्रकार बातचीत कर सकते हैं , 

जैसे कि वे एक स्थान पर ही स्थित हों । टेली कान्फ्रेन्सिंग का मुख्य लाभ यह है कि कम्यूनिकेशन लागत को कम करती है । 

यह बचत इसलिए होती है , क्योंकि बातचीत करने के लिए सभी व्यक्तियों का सफर करके किसी एक स्थान पर एकत्र होने की आवश्यकता नहीं होती  

एक सांख्यिकीय अनुमान से टेली कान्फ्रेन्सिंग ने व्यावसायिक यात्रा व्यय में लगभग 30 % की कटौती की है । इसका एक अन्य लाभ यह भी है , 

कि एक व्यक्ति जो भौतिक रूप से किसी कान्फ्रेन्स में उपस्थित होने में असमर्थ होता है , वह भी इसके माध्यम से इस आवश्यक वार्तालाप में सम्मिलित हो सकता है । 

टेली कान्फ्रेन्सिंग का एक मुख्य दोष यह है कि नेटवर्क में तकनीकी खराबी होने से यह बाधित हो सकती है । इसके लिए एक स्वस्थ नेटवर्क और अपडेटेड हाडवेयर एवं सॉफ्टवेयर की आवश्यकता रहती है । इसके माध्यम से हम मोल - तोल नहीं कर सकते । 

यदि सामने वाली पार्टी माल - तोल की इच्छुक नहीं है , तो वह अपनी कान्फ्रेन्सिंग डिवाइस को ऑफ कर सकती है ; जबकि यदि आमने - सामने बैठकर बातचीत होती है , तो वह हमारी बात सुनने के लिए बाध्य होती है ।फिर भी टेली कान्फ्रेन्सिंग एक अत्यन्त उपयोगी सुविधा है 


Final Word

दोस्तो मै आशा करता हु की टेली कान्फ्रेन्सिंग के बारे मे पूरी जानकारी मिल गयी हो गी यदि आप के पास कोई भी Question है तो आप कमेंट कर के पूछ सकते है